आईआईटी-कानपुर ने फोल्डेबल सीढ़ी बनाई, इससे ट्रेन की अपर बर्थ तक पहुंचना आसान होगा

आईआईटी-कानपुर ने फोल्डेबल सीढ़ी बनाई, इससे ट्रेन की अपर बर्थ तक पहुंचना आसान होगा

कानपुर. आईआईटी-कानपुर की एक टीम ने भारतीय रेलवे की बोगी के लिए फोल्ड होने वाली सीढ़ी बनाई है। ये सीढ़ियां यात्रियों को आसानी से मिडिल और अपर बर्थ तक पहुंचने में मदद करेंगी। आईआईटी कानपुर से प्रोग्राम डिजाइनिंग में पीएचडी करने वाले कनिष्क बिस्वास ने बताया कि सीढ़ी में 3 फोल्डेबल स्टेप हैं जो लॉक और अनलॉक हो सकते हैं। सीढ़ियां कम जगह लें इसके लिए इन्हें आड़ा-तिरछा (जिग्जॉग स्टाइल) लगाया गया है।

सीढ़ी पर पैर रखने के लिए पहली और दूसरी बर्थ के बीच तीन पाए लगाए गए हैं। जबकि अपर बर्थ तक पहुंचने के लिए एक पाया दिया गया है। दावा है, सीढ़ी को रेलवे के अधिकारियों के पास ट्रायल के लिए भेजा है। ताकि जरूरी औपचारिकताएं पूरी जा सकें। सीढ़ी का डिजाइन पेटेंट कराने के लिए आवेदन पहले ही किया जा चुका है। 

सीढ़ियां बनाने में इनकी भूमिका प्रमुख
सीढ़ी को तैयार करने वाली टीम में कनिष्क के अलावा पुष्पल डे, अर्थ साइंस विभाग की पीएचडी स्कोलर ईशा रे, मैक्निकल इंजीनियरिंग विभाग के प्रोफेसर डॉक्टर बिशाख भट्टाचार्य एवं सिविल इंजीनियरिंग विभाग के प्रोफेसर डॉ तरूण गुप्ता थे।