YES Bank: राणा कपूर की बेटी रोशनी को मुंबई एयरपोर्ट पर लंदन जाने से रोका गया

YES Bank: राणा कपूर की बेटी रोशनी को मुंबई एयरपोर्ट पर लंदन जाने से रोका गया

गति न्यूज़ नई दिल्ली: 

यस बैंक मामले (Yes Bank Crisis) में राणा कपूर की बेटी रोशनी कपूर को मुंबई एयरपोर्ट (Mumbai Airport) पर रोक लिया गया है. रोशनी कपूर (Roshni kapoor) ब्रिटिश एयरवेज (British Airways) से लंदन जाना वाली थीं. प्रर्वतन निदेशालय (ED) ने बीते शुक्रवार को ही राणा कपूर के मुंबई स्थित आवास पर छापेमारी की थी. इसके बाद उनसे लगातार 20 घंटे तक पूछताछ की गई. रविवार को राणा कपूर को 11 मार्च तक के लिए ईडी के रिमांड पर भेज दिया गया है.

बता दें कि यस बैंक मामले में राणा कपूर, उनकी पत्नी और तीनों बेटियों के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया है. इस वजह से उन्हें भारत छोड़कर कहीं और जाने की अनुमति नहीं है. वहीं, दूसरी तरफ रविवार शाम को ही केंद्रीय जांच एजेंसी CBI ने राणा कपूर और DHFL के प्रोमोटर कपि​ल वाधवानी के खिलाफ जांच शुरू कर दिया है.

बता दें कि रविवार सुबह ही यस बैंक के पूर्व प्रोमोटर और संस्थापक राणा कपूर को मनी लॉन्ड्रिंग केस में प्रवर्तन निदेशालय ने 11 मार्च तक अपनी हिरासत में लिया है. प्रवर्तन निदेशालय इस मामले की जांच राणा कपूर और उनके परिवार द्वारा 600 करोड़ रुपये लेनदेन को लेकर कर रही है. बताया जा रहा है कि कपूर परिवार की एक कंपनी को दिवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड 600 करोड़ रुपये अपनी हितों की सु​रक्षा के लिए दिया था.DHFL के खिलाफ पहले से ही चल रही जांच
मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि कपूर परिवार की मालिकाना हक वाली कंपनी DoIT अर्बन वेंचर्स (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड ने यह रकम DHFL से एक ऐसे समय में लिया था, जब यस बैंक ने DHFL को 3,000 करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज दिया था. पहले से ही वित्तीय ​अनियमित्तताओं की वजह से डीएचएफएल की जांच चल रही है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, DHFL द्वारा लिए गए लोन के डिफॉल्ट हो जाने के बाद भी यस बैंक ने इस NPA की कोई जांच नहीं की.

विशेष अदालत को राणा कपूर ने दी ये जानकारी


रविवार को विशेष अदालत में राणा कपूर ने जानकारी दी कि DoIT कंपनी उनकी दो​ बेटियां राधा कपूर और रोशनी कपूर के नाम पर है. यस बैंक ने DHFL को 3,700 करोड़ रुपये का लोन दिया था. बाद में DoIT ने DHFL को 600 करोड़ रुपये दिया था. कपूर ने यह भी कहा कि DoIT कंपनी अभी भी इस लोन का रिपेमेंट कर रही है और यह अभी एनपीए नहीं है.